चीन का कोरोना-रोधी टीका महामारी के खिलाफ़ अंतरराष्ट्रीय लड़ाई में मदद करता है

2021-04-08 15:05:28

टीका वायरस का मुकाबला करने का उपयोगी हथियार ही नहीं, जीवन बचाने की उम्मीद भी है। कोरोना वायरस महामारी सारी दुनिया में फैलने की पृष्ठभूमि में चीन ने सबसे पहले टीके को वैश्विक सार्वजनिक उत्पाद के रूप में बनाने का वादा किया, और विकासशील देशों में टीकों की पहुंच और सामर्थ्य को उन्नत करने का प्रयास किया। इसके साथ ही चीन वैक्सीन अंतरराष्ट्रीय सहयोग में भी सक्रियता से भाग ले रहा है।

चीनी वैक्सीन उद्योग के विशेषज्ञों ने कहा कि चीन का कोरोना-रोधी टीका महामारी के खिलाफ़ अंतरराष्ट्रीय लड़ाई में मदद कर रहा है। यह चीनी वैक्सीन उद्योग के बेहतर और मजबूत बनने के लिए, और अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में प्रवेश करने के लिए ठोस नींव रखेगा।

“कोरोना-रोधी वैक्सीन और वैक्सीन उद्योग का अंतर्राष्ट्रीयकरण”शीर्षक ऑनलाइन संगोष्ठी 7 अप्रैल को आयोजित हुई। चीन वैक्सीन उद्योग एसोसिएशन के अध्यक्ष फ़ंग त्वोच्या ने संगोष्ठी में उपस्थित होकर कहा कि चीनी वैक्सीन का अंतरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा व्यापक तौर पर उपयोग किया जा रहा है। यह चीनी वैक्सीन उद्योग के लिए अभूतपूर्व है। विकासशील देशों में वैक्सीन की पहुंच और सामर्थ्य के क्षेत्र में चीन ने योगदान दिया। इससे चीनी वैक्सीन उद्योग ने पहली बार स्पष्ट विकास रणनीतिक लक्ष्य बनाया, यह लक्ष्य अग्रिम वैश्विक स्तर पर दुनिया की सेवा करने वाला है।

जानकारी के अनुसार, 30 मार्च तक चीन ने 80 से अधिक देशों और 3 अंतरराष्ट्रीय संगठनों को वैक्सीन सहायता दी और 40 से अधिक देशों में वैक्सीन का निर्यात किया। इसके अलावा, चीन ने विश्व स्वास्थ्य संगठन की कोवैक्स योजना में भाग लिया और स्पष्ट रूप से विकासशील देशों की तत्काल जरूरतों के लिए पहली खेप में वैक्सीन की 1 करोड़ खुराक प्रदान करने का वचन दिया।

चीन हमेशा टीके के अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के लिए खुला रहा है, और चीनी कंपनियों का अपने अंतरराष्ट्रीय समकक्षों के साथ संयुक्त रूप से टीकों के अनुसंधान एवं विकास, नैदानिक ​​परीक्षण और सहकारी उत्पादन के लिए सक्रिय समर्थन करता है। 

(श्याओ थांग)

लोकप्रिय कार्यक्रम
रेडियो प्रोग्राम
रेडियो_fororder_banner-270x270