लॉकडाउन हटने के बाद वुहान ने किया जबरदस्त विकास

2021-04-08 18:52:49

8 अप्रैल 2020 को चीन के वुहान शहर में 76 दिन तक चला लॉकडाउन हटाया गया। इसके बाद के एक साल में वुहान ने चौंकाने वाला विकास पूरा किया है।वर्ष 2020 में वुहान की जीडीपी फिर चीन के शीर्ष दस शहरों की पंक्ति में वापस आयी और डिजिटल अर्थव्यवस्था का अतिरिक्त मूल्य जीडीपी का 40 प्रतिशत रहा ।

वुहान की तेज बहाली से साबित हुआ है कि उस समय वुहान पर लॉकडाउन लगाने का फैसला सही और उचित समय पर था ,जो महामारी की रोकथाम में बड़ा महत्वपूर्ण साबित हुआ ।द लेंसेट मैग्जीन के प्रमुख संपादक रिचर्ड होर्टन ने बताया कि वुहान में लॉकडान लगाकर चीन ने विश्व को महामारी के निपटारे के लिए समय दिया। यह न सिर्फ सही फैसला था ,बल्कि अन्य देशों को भी महामारी के आपात खतरे से निपटने की राह दिखायी गयी।

उल्लेखनीय बात है कि वायरस स्ट्रेन के परिवर्तन ,लापरवाही और टीके से पैदा वाद-विवाद से यूरोप और अमेरिका के कई देशों में कोविड-19 महामारी की लहर फिर वापस आ रही है ।कुछ देशों को फिर लॉकडान जैसे कदम उठाने पड़े ।आर्थिक बहाली नयी चुनौती का सामान कर रही है ।इस नाजुक वक्त में वैज्ञानिक भावना से एकजुट होकर महामारी से संघर्ष करना और महामारी के राजनीतिकरण से बचना बहुत जरूरी है ।

गौरतलब है कि जब वुहान में लॉकडाउन का कदम उठाया गया था ,कुछ पश्चिमी राजनीतिज्ञों ने मानवाधिकार के बहाने चीन की कोशिशों पर लांछन लगाया ।अब तक वे कोविड-19 के स्रोत और टीके जैसे सवालों को राजनीतिक मुद्दे बनाने की कुचेष्टा कर रहे हैं और चीन पर कीचड़ उछालते रहे हैं ।

एक साल में अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने  वुहान के विकास और वैश्विक महामारी के मुकाबले में चीन की कोशिशें देखीं हैं ।कुछ पश्चिमी राजनीतिज्ञों के दुष्ट प्रचार का बाजार खत्म हो गया है ।एक बड़े जिम्मेदार देश के नाते चीन कोविड-19 के खिलाफ वैश्विक संघर्ष और आर्थिक बहाली में अधिक सकारात्मक ऊर्जा डाल रहा है और डालता रहेगा।

(वेइतुंग)    

लोकप्रिय कार्यक्रम
रेडियो प्रोग्राम
रेडियो_fororder_banner-270x270