चीन में संपूर्ण गरीबी को खत्म करना सर्वोत्तम मानव अधिकार अभ्यास है

2021-04-07 13:06:23

चीन ने 6 अप्रैल को“मानव गरीबी उन्मूलन में चीन का अभ्यास”शीर्षक श्वेत पत्र जारी किया, जिसमें विस्तृत आंकड़ों और मामलों के साथ पिछले 100 सालों में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा चीनी जनता का नेतृत्व करते हुए संपूर्ण गरीबी को खत्म करने की असाधारण यात्रा का सिंहावलोकन किया गया और गरीबी उन्मूलन के दौरान चीन के उपयोगी अनुभवों का सारांश किया गया। इसने एक बार फिर कुछ विश्लेषकों के विचारों को साबित किया, यानी कि चीन द्वारा संपूर्ण गरीबी को खत्म करना न केवल "दुनिया की सबसे बड़ी मानवाधिकार परियोजना" है, बल्कि "सर्वोत्तम मानव अधिकार अभ्यास" भी है।

चीन में सत्तारूढ़ पार्टी हमेशा लोगों के गरीबी उन्मूलन को प्राथमिकता देती है। उसने पूरी तरह से गरीबी समाप्त कर दी और सतत विकास के लिए संयुक्त राष्ट्र 2030 एजेंडा के गरीबी में कमी के लक्ष्य को निर्धारित समय से 10 साल पहले हासिल कर लिया। दुनिया की आबादी का लगभग पांचवां हिस्सा शांतिपूर्ण, स्वतंत्र और खुशहाल जीवन मुहैया करवाना वैश्विक मानवाधिकारों के लिए एक महत्वपूर्ण योगदान है।

चीन ने महिलाओं और बच्चों, बुजुर्गों, विकलांगों, अल्पसंख्यक जातीय लोगों जैसे विशिष्ट समूहों में गरीब जनसंख्या के गरीबी उन्मूलन की प्रधानता दी, व्यापक तौर पर लोगों के अस्तित्व और विकास के अधिकारों की गारंटी दी, सामाजिक निष्पक्षता और न्याय की दृढ़ता से रक्षा की, यह चीन के गरीबी उन्मूलन की स्पष्ट विशेषताएं हैं।

श्वेत पत्र के मुताबिक, साल 2016 से 2020 तक, चीन में पाँच अल्पसंख्यक जातीय स्वायत्त प्रदेशों और क्वेइचो, युन्नान तथा छिंगहाई तीनों बहुल जातीय प्रांतों में गरीबी की आबादी में 1 करोड़ 56 लाख की कमी की गई। 28 अल्पसंख्यक जातियों को गरीबी से बाहर निकाला गया है। गरीबी से बाहर निकलने वाली लगभग 10 करोड़ जनसंख्या में आधा भाग महिला है। देश में आर्थिक मुसीबत में फंसे बुजुर्ग और क्षमताहीन बुजुर्ग आदि बुजुर्गों के लिए सब्सिडी प्रणाली पूरी तरह से स्थापित की गई है, जिससे 3 करोड़ 68 लाख 90 हज़ार बूढ़े लोगों को लाभ मिला। चीन में 70 लाख से अधिक गरीब विकलांग व्यक्तियों को गरीबी से मुक्ति मिली और 1 करोड़ 6 लाख 67 हज़ार विकलांग लोगों को न्यूनतम जीवित गारंटी प्रणाली में शामिल किया गया। गरीबी उन्मूलन, मानवाधिकार की रक्षा के लिए चीन के प्रयास सभी के लिए स्पष्ट हैं।

वर्तमान में गरीबी अभी भी एक पुरानी बीमारी है जो वैश्विक विकास को प्रभावित करती है। महामारी फैलने और सौ वर्षों में अभूतपूर्व परिवर्तन होने की स्थिति में गरीबी को कम करने में चीन के सफल अभ्यास और बहुमूल्य अनुभव ने सभी देशों, खासकर विकासशील देशों का पूर्ण गरीबी खत्म करने का विश्वास बढ़ाया है। चीन ने वैश्विक गरीबी उन्मूलन के शासन के लिए चीनी प्रस्ताव पेश किया और साथ ही वैश्विक मानवाधिकार की रक्षा को बढ़ावा देने में भी चीनी ऊर्जा का संचार किया।

(श्याओ थांग)

लोकप्रिय कार्यक्रम
रेडियो प्रोग्राम
रेडियो_fororder_banner-270x270