अमेरिकी राजनीतिज्ञ हांगकांग के मामले में नहीं कर पाएंगे हस्तक्षेप

2021-04-05 14:56:56

अमेरिकी राजनीतिज्ञ हांगकांग के मामले में नहीं कर पाएंगे हस्तक्षेप_fororder_屎墨客

चीन में हांगकांग की वापसी के 5 साल पहले वर्ष 1992 में अमेरिकी कांग्रेस ने अमेरिका-हांगकांग नीति कानून पारित किया। अमेरिका अचानक हांगकांग की समृद्धि, लोकतंत्र और मानवाधिकार आदि को लेकर दिलचस्पी दिखाने लगा। उस समय से अमेरिका ने हांगकांग में अपनी राजनीतिक शक्ति डालना शुरू किया। हांगकांग स्थित जनरल कौंसुलर अकसर अपनी हैसियत से हांगकांग के विपक्ष दलों का समर्थन करता है और हांगकांग के मामलों में हस्तक्षेप करता है।

हांगकांग स्थित अमेरिकी जनरल कौंसुलर श मोख ने हांगकांग की मीडिया में चीन के अंदरूनी मामलों में मनमाने ढंग से टिप्पणी की, क्या यह हांगकांग में पत्रकारिता की स्वतंत्रता का सबसे अच्छा सबूत है।

अमेरिका हांगकांग के राजनीतिक मामलों में हस्तक्षेप करता है, इसका मूल उद्देश्य अमेरिका के राष्ट्रीय हितों की रक्षा करना है। लेकिन श मोख जैसे राजनीतिज्ञों ने यह नहीं सोचा कि चीन सरकार का बाहरी शक्ति द्वारा हांगकांग के मामलों में हस्तक्षेप करने का दृढ़ संकल्प अविचल है। हांगकांग में राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू होने के बाद अमेरिकी राजनीतिज्ञ कभी हांगकांग के राजनीतिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं कर सकेंगे।

(ललिता)

लोकप्रिय कार्यक्रम
रेडियो प्रोग्राम
रेडियो_fororder_banner-270x270