शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए गलवान घाटी की झड़प के बारे में जानकारी जारी की : चीनी विदेश मंत्रालय

2021-02-19 17:18:42

19 फरवरी की सुबह पीपुल्स लिबरेशन आर्मी डेली ने रिपोर्ट देकर कहा कि चीन के केंद्रीय सैन्य आयोग ने गलवान घाटी में विदेशी सेना द्वारा उकसाने वाली शत्रुता से लड़ने में अपनी भूमिका के लिए सैनिकों को सराहा और उन्हें पुरस्कार से सम्मानित भी किया। उस दिन चीनी विदेश मंत्रालय में आयोजित एक नियमित संवाददाता सम्मेलन में एक पत्रकार ने पूछा कि इस समय चीन द्वारा संबंधित जानकारी देने का क्या मकसद है?

इस के जवाब में चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ छ्वनयिंग ने कहा कि गत जून माह में गलवान झड़प हुई। चीन इस की जिम्मेदारी नहीं लेता है। इस घटना से लोगों की हताहती हुई। चीन ने दोनों सेनाओं के संबंधों की रक्षा करने और परिस्थिति में शैथिल्य लाने के लिए संयम रखा। लेकिन भारतीय पक्ष ने बार-बार संबंधित हताहतों की संख्या को बढ़ा-चढ़ा कर दिखाया, तथ्यों को तोड़-मरोड़ किया और अंतरराष्ट्रीय जनमत को विकृत किया। पीपुल्स लिबरेशन आर्मी डेली की यह रिपोर्ट लोगों को तथ्य जानने और सीमा की रक्षा करने वाले शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए लाभदायक है। हुआ छ्वनयिंग ने कहा कि उन की कहानी पढ़कर वे भी बहुत प्रभावित हुई हैं। आज की शांति आसानी से नहीं आयी है। हरेक वीरों की याद रखने की जरूरत है और हमारा सम्मान किया जाना है।

साथ ही हुआ छ्वनयिंग ने जोर दिया कि सीमांत समस्या का हल करने के चीन का रुख हमेशा रहा है। चीन वार्तालाप के जरिए विवादों का समाधान करने और सीमांत क्षेत्र की शांति व स्थिरता की रक्षा करने की पूरी कोशिश करता है। वे आशा करती हैं कि भारतीय पक्ष सीमांत समस्या को एक उचित स्थान पर रखकर द्विपक्षीय संबंधों के दीर्घकालीन, स्वस्थ और स्थिर विकास को आगे बढ़ाने के लिए चीन के साथ उभय प्रयास कर सकेगा। यह दोनों देशों के लोगों के समान हितों में हैं।

(श्याओयांग)

लोकप्रिय कार्यक्रम
रेडियो प्रोग्राम
रेडियो_fororder_banner-270x270