उपभोग बनी तिब्बत के आर्थिक विकास की मजबूत प्रेरक शक्ति

2021-01-27 13:02:00

उपभोग बनी तिब्बत के आर्थिक विकास की मजबूत प्रेरक शक्ति_fororder_VCG111242343725

हाल ही में आयोजित साल 2020 में तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के आर्थिक संचालन प्रेस सम्मेलन से मिली खबर के अनुसार, उपभोग तिब्बत के आर्थिक विकास की मजबूत प्रेरक शक्ति बन गई है। शहरों और देहातों में उपभोग बाज़ार स्थिर रूप से विकसित हो रहा है, गत वर्ष में तिब्बत में उपभोक्ता वस्तुओं की कुल खुदरा बिक्री 74 अरब 57 करोड़ 80 लाख युआन तक पहुंच गई, जो साल 2015 की तुलना में 56.3 प्रतिशत की वृद्धि हुई, और 9.3 फीसदी की औसत वार्षिक वृद्धि पर पहुंच गई है।

तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के सांख्यिकी ब्यूरो के प्रमुख स्वोलांग जाशी के मुताबिक, साल 2020 में तिब्बत में शहरी उपभोक्ता वस्तुओं की खुदरा बिक्री वर्ष 2015 की तुलना में 56.6 प्रतिशत बढ़ गई, जिसकी औसत वार्षिक वृद्धि 9.4 प्रतिशत है। वहीं, गत वर्ष में ग्रामीण खुदरा बिक्री साल 2015 की तुलना में 55.3 प्रतिशत बढ़ी, जिसकी औसत सालाना वृद्धि 9.2 प्रतिशत है। आंकड़ों से जाहिर है कि आर्थिक विकास में उपभोग का योगदान अधिक से अधिक स्पष्ट होता जा रहा है।

शहरी और ग्रामीण निवासियों की प्रति व्यक्ति प्रयोज्य आय में बढ़ोतरी उपभोग वृद्धि की प्रेरक शक्ति है। साल 2020 में तिब्बती निवासियों की प्रति व्यक्ति प्रयोज्य आय 21,744 युआन है, जो वर्ष 2019 की तुलना में 11.5 प्रतिशत अधिक है। उनमें से, शहरी निवासियों की प्रति व्यक्ति प्रयोज्य आय 41,156 युआन है, जो 10 प्रतिशत की वृद्धि थी, जबकि ग्रामीण निवासियों की प्रति व्यक्ति प्रयोज्य आय 14,598 युआन है, जो 12.7 प्रतिशत की वृद्धि थी।

(श्याओ थांग)

लोकप्रिय कार्यक्रम
रेडियो प्रोग्राम
रेडियो_fororder_banner-270x270