Web  hindi.cri.cn
    बैल का वध
    2017-03-28 17:58:38 cri

    बैल का वध 庖丁解牛

    "बैल का वध"कहानी को चीनी भाषा में"फाओ तिंग च्ये न्यू"(páo dīng jiě niú) कहा जाता है। इसमें"फाओ तिंग"रसोइया है, जबकि"च्ये"एक क्रिया शब्द है, जिसका अर्थ काटना या टुकड़ा बनाना है और"न्यू"का अर्थ है बैल। कुल मिलाकर कहा जाए, तो"फाओ तिंग च्ये न्यू"का अर्थ निकलता है कि रसोइया के मरे हुए बैल की चीर-फाड़ करना। यहां हमें संक्षिप्त में"बैल का वध"कहते हैं।

    कहते हैं कि प्राचीन समय में ल्यांग राज वंश का राजा ह्वेई वांग एक दिन रसोई में आया। उसने देखा था कि एक रसोइया मरे हुए बैल की चीर-फाड़ कर रहा था। रसोइया बड़ी कुशलता से काम कर रहा था, चाकू बैल के शरीर के अन्दर चलाते ही मांस और हड्डी एक दूसरे से अलग हो गये। ह्वेई वांग ने रसोइये की तारीफ़ करते हुए कहा:"तुम्हारा कौशल वाकई लाजवाब है।"

    इस पर रसोइये ने कहा:"मेरा यह कौशल वर्षों के कड़े परिश्रम का फल है। शुरू-शुरू में मुझे पूरा एक बैल दिखाई देता था। मैं नहीं जानता था कि बैल के अंगों को आपस में अलग करने के लिए क्या करना चाहिए। तीन साल के कड़े अभ्यास के बाद मुझे पूरा बैल नहीं दिखता था। मुझे उसकी हड्डियों के बीच की खुली जगह दिखाई पड़ती थी। अब मैं अपने मन की आंखों से देख सकता हूं। मुझे बैल की शारीरिक संरचना पूरी तरह पता है।"

    रसोइये ने फिर कहा:" मेरा चाकू बैल के शरीर में प्रवेश कर गया, तो वह बैल की शारीरिक संरचना के अनुसार हड्डियों के बीच खुली जगहों पर काम कर रहा है। जहां उसे चाकू से अलग नहीं किया जा सकता है, वहां मैं नहीं काटता हूं। अच्छा रसोइया वह है, जिसका चाकू कम से कम एक साल तक चलता है। क्योंकि उसका चाकू मांस काटने के लिए तैयार होता है। लेकिन घटिया रसोइये का चाकू महीने भर में ही बदलना पड़ता है, क्योंकि वह उसके चाकू से हड्डी पर चोट होती है और चाकू की धार आसानी से खराब हो जाती है। मेरे हाथ में जो चाकू है, मुझे इसका इस्तेमाल करते हुए 19 साल हो चुके हैं और इससे मैंने कई बैलों का वध कर दिया है। फिर भी इसकी धार नए चाकू की तरह तेज़ है। इसकी वजह यह है कि बैलों की हड्डियों के बीच खुली जगह होती है, चाकू की धार बहुत पतली होती है, पतला चाकू जब हड्डियों के बीच घुसता है और सही कंट्रोल करने से ऐसा लगता है कि चाकू चलाने के लिए हड्डियों के बीच बहुत बड़ी खुली जगह मौजूद है। इस काम के बारे में बात करना तो आसान होता है, पर इसे करना मुश्किल होता है। अधिक हड्डियों की जगह पर मैं हमेशा सावधानी से चाकू चलाता हूं। उसके अन्दर स्टीक ढंग से चाकू घुमाता हूं और एक हल्की चोट कर हड्डी अलग कर देता हूं। देखने में लगता है, मानो मिट्टी का ढेर जमीन पर पड़ गया हो। मुझे बहुत खुशी होती है, मैं अपने परिश्रम का फल इस नज़र से देखता हूं। मानो एक कलात्मक वस्तु की सराहना हो रही हो। फिर मैं चाकू को साफ करता हूं और अच्छी तरह सुरक्षित रख देता हूं।"

    रसोइये की इस तर्कसंगत व्याख्या पर राजा ह्वेई वांग को बड़ी प्रसन्नता हुई और उसने रसोइये की तारीफ़ करते हुए कहा:"तुम्हारी बातें भी लाजवाब हैं। इसमें बहुत तर्क हैं।"

    "बैल का वध"यानी चीनी भाषा में"फाओ तिंग च्ये न्यू"(páo dīng jiě niú) नाम की इस नीति कथा से यह पता चलता है कि हर चीज़ का अपना नियम होता है, उसपर अधिकार करने से बहुत लाभ मिल सकता है।

    1 2 3
    © China Radio International.CRI. All Rights Reserved.
    16A Shijingshan Road, Beijing, China. 100040