Web  hindi.cri.cn
    शैतानी का चित्र बनाना आसान है
    2017-01-30 17:48:45 cri


    भोला हिरन का शोचनीय अन्त 糊涂麋鹿

    "भोले हिरन का शोचनीय अन्त"नाम की नीति कथा को चीनी भाषा में"हू थू मी लू"(hútu mílù) कहा जाता है। इसमें"हू थू"का अर्थ है"भोला", जबकि"मी लू"है हिरन। कहानी में भोले हिरन के शोचनीय अंत सुनाया जाता है।

    बहुत पहले की बात है। लिनच्यांग नाम के एक स्थान में रहने वाले शिकारी ने एक छोटा दुधमुंहा हिरन का बच्चा पकड़ा। उसे प्यारे से हिरन के बच्चे पर दया आ गयी और उसे अपने घर लाकर पालने लगा।

    जब वह हिरन के बच्चे को घर के दरवाजे पर लाया, तो उसके कई शिकारी कुत्तों की नज़र उस पर पड़ गई, उनके मुंह से लार निकलने लगी और वे हिरन के बच्चे को खाने को बेताब हो गए। शिकारी को बहुत गुस्सा आया और उसने कुत्तों को लात मार मार कर दूर भगा दिया।

    हिरन के बच्चे और कुत्तों के बीच आत्मीयता और दोस्ती कायम करने के लिए शिकारी रोज हिरन को कुत्तों के साथ खेलने आंगन में ले जाने लगा, उसे लगा कि ऐसा करने से कुत्ते और हिरन एक-दूसरे से परिचित हो जाएंगे और उनके बीच दोस्ती कायम होगी। जब कभी भी कुत्तों की बुरी नज़र हिरन पर पड़ती तो शिकारी उन्हें खूब मारता।

    कई दिन बीतने पर हिरन का बच्चा और कुत्ते एक दूसरे से पूरी तरह परिचित हो गए, वे अकसर मिल कर खेल करने लगे और बड़े आत्मीय बन गए। यूं तो कुत्ते हिरन का स्वादिष्ट मांस खाने को हमेशा आतुर रहते थे, पर अपने मालिक से डर के कारण उन्हें खुद पर नियंत्रण करना पड़ता था। और भोला-भाला हिरन का बच्चा, मालिक के प्यार और संरक्षण से डर को भूल गया और बड़ी लापरवाही से कुत्तों को अपना अच्छा मित्र समझने लगा। उसे यह भी ख्याल नहीं रहा कि कुत्ते हिरन के दुश्मन होते हैं।

    तीन साल यूं ही गुजर गए। एक दिन हिरन खेलने के लिए आंगन से बाहर निकला, बाहर कुछ दूरी पर कुत्तों का एक झुंड आपस में खेल रहा था, छोटा हिरन दौड़कर कुत्तों के साथ खेलने चला गया। बाहरी कुत्तों ने जब देखा कि उनके बीच में एक हिरन आया है, तो वे तुरंत हिरण पर टूट पड़े और उन्होंने पलक झपकते हुए हिरन को ज़मीन पर गिरा दिया। बस क्या था जमीन पर हिरन की टूटी हड्डी और खून से रंगे बाल रह गए।

    बेचारा हिरन का बच्चा मरते दम भी नहीं समझ पाया कि आखिर कुत्ते उसे मारकर क्यों खा रहे हैं।

    छोटे हिरन की दुखांत कथा हमें बताती है कि किसी चीज के बाहरी स्वरूप से भ्रमित होने से बचना चाहिए, उस चीज की असलियत जानना बहुत जरूरी है। ताकि उसके साथ बर्ताव करने का उचित और सही तरीका अपनाया जा सके।

    1 2 3
    © China Radio International.CRI. All Rights Reserved.
    16A Shijingshan Road, Beijing, China. 100040