Web  hindi.cri.cn
    नेपाल को"एक पट्टी एक मार्ग"से लाभ मिलेगा- नेपाली उप प्रधानमंत्री
    2017-05-11 16:04:37 cri

    नेपाली उप प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री कृष्ण बहादुर महारा 12 मई को प्रतिनिधि मंडल का नेतृत्व कर चीन आएंगे। लक्ष्य है कि चीन के साथ"एक पट्टी एक मार्ग"ज्ञापन पर हस्ताक्षर करना। चाइना रेडियो इन्टरनेशनल के नेपाली विभाग के संवाददाता को दिए एक खास इन्टरव्यू में उन्होंने कहा कि नेपाल चीन के साथ इस ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने की प्रतिक्षा में है।"एक पट्टी एक मार्ग"के निर्माण से नेपाली जनता को लाभ मिलेगा।

    महारा ने कहा कि चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने"एक पट्टी एक मार्ग"वाला प्रस्ताव पेश किया है, यह सिर्फ़ चीन के विकास के लिए ही नहीं, बल्कि चीन के पड़ोसी देशों के विकास में भी कई अवसर मुहैया करवाएगा। उन्होंने कहा:"'एक पट्टी एक मार्ग'के निर्माण के दौरान नेपाल के उद्योग, कृषि, दूर संचार, वाणिज्य, पनबिजली संस्थापन, पर्यावरण संरक्षण, संस्कृति और शिक्षा, पर्यटन और स्वास्थ्य जैसे क्षेत्रों के विकास को बहुत लाभ मिलेगा। इस प्रस्ताव से नेपाल और चीन के बीच पारंपरिक मित्रता गहराएगी और कई क्षेत्रों में वास्तविक सहयोग भी बढ़ेगा।"

    नेपाली उप प्रधानमंत्री महारा ने कहा कि उन्होंने कई बार चीन की यात्रा की थी। चीन के विभिन्न क्षेत्रों में विकास ने उनपर गहरी छाप छोड़ी। उनका कहना है:"हम दोनों देशों के बीच विभिन्न क्षेत्रों में संपर्क बने हैं। चाहे पन बिजली के निर्माण और पर्यटन विकास के क्षत्र में हो, या फिर कृषि तकनीकी आदान-प्रदान, चिकित्सा और शिक्षा के क्षेत्र में आवाजाही क्यों न हो, हम चीन के अनुभवों से बहुत कुछ सीख सकते हैं और इन अनुभवों को नेपाल में विकास और उन्नति के लिये प्रयोग कर सकते हैं। अम्मीद है कि'एक पट्टी एक मार्ग'से हमारे दोनों देशों के बीच एक दूसरे से सीखने, आदान-प्रदान करने और सहयोग करने के अधिक मौके मिलेंगे।"

    इन्टरव्यू में उप प्रधानमंत्री महारा ने यह भी कहा कि नेपाल चीन का मित्रवत पड़ोसी है। नेपाल की सरकार और जनता को"एक पट्टी एक मार्ग"के निर्माण में भाग लेने पर खुश है। उन्होंने कहा:"प्रचीन काल से ही आज तक नेपाल और चीन मित्रवत पड़ोसी देश रहे हैं। दोनों देशों के बीच मित्रता का इतिहास बहुत पुराना है।'एक पट्टी एक मार्ग'वाले प्रस्ताव प्रस्तुत किए जाने से न केवल दोनों देशों के बीच सरकारी सहयोग मज़बूत होगा, बल्कि गैर सरकारी आवाजाही और दोनों देशों की जनता के बीच मित्रता भी मज़बूत होगी। इससे नेपाली जनता के चीन के बारे में अधिक जानकारी पाने में मदद मिलेगी। नेपाल की सरकार और जनता इस प्रस्ताव में भागीदारी को लेकर बहुत खुशी है।"

    उप प्रधानमंत्री महारा के मुताबिक नेपाली सरकार"एक पट्टी एक मार्ग"प्रस्ताव में भाग लेने के लिए सक्रिय प्रयास कर रही है। देश में विभिन्न पार्टियां और संबंधित विभाग के बीच एकजुट होकर विस्तृत रूप से विचार विमर्श करने और संबंधित इंतजाम करने में लगे हुए हैं।

    (श्याओ थांग)

    © China Radio International.CRI. All Rights Reserved.
    16A Shijingshan Road, Beijing, China. 100040